कोटा फैक्ट्री का ये एक्टर असल में कर चुका है JEE क्रैक, एक्टिंग के लिए छोड़ा था IIT बॉम्बे

0
कोटा फैक्ट्री का ये एक्टर असल में कर चुका है JEE क्रैक, एक्टिंग के लिए छोड़ा था IIT बॉम्बे

कोटा फैक्ट्री सीजन 3 नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो गया है। इस सीरीज में सभी एक्टर्स ने बेहतरीन काम किया है। सीरीज उन बच्चों पर आधारित है जो कोटा में रहकर जेईई और अन्य कॉम्टेटिव एग्जाम की तैयारी करते हैं। सीरीज में दिखाया गया है कि कैसे बच्चे JEE को क्रैक करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कोटा फैक्ट्री का एक एक्टर अपनी असल लाइफ में JEE क्रैक कर चुका है। इस एक्टर ने JEE क्रैक करके IIT बॉम्बे में एडमिशन भी पाया।इसके बाद, एक्टिंग के लिए IIT बॉम्बे से ड्रॉप आउट भी कर लिया।

क्या आपको पता है बिहार के इस एक्टर का नाम?

क्या आप जानते हैं इस एक्टर का नाम? इस एक्टर के किरदार को दर्शकों से बेहद प्यार मिला है। ये एक्टर बिहार के अरवल जिले से आता है। क्या अब आप पहचान पाए नाम? अगर नहीं, तो चलिए हम बताते हैं कि कौन है वो एक्टर जिसने असल लाइफ में जेईई क्रैक किया है। ये एक्टर कोई और नहीं बल्कि रंजन राज हैं। रंजन राज ने सीरीज में बालमुकुंद मीना का किरदार निभाया है।

पटना से की जेईई कोचिंग

बालमुकुंद मीना के किरदार की तरह ही रंजन राज बिहार के एक गरीब परिवार से आते हैं। रंजन राज एक ब्राइट स्टूडेंट थे और अपने मां-बाप के सपोर्ट के लिए वो इंजीनियरिंग करना चाहते थे। पिकंविला की रिपोर्ट के मुताबिक, जेईई की तैयारी के लिए रंजन राज ने पटना में एक कोचिंग में एडमिशन लिया। इतना ही नहीं, उन्होंने जेईई की ना सिर्फ तैयारी की बल्कि पेपर को पास करके IIT बॉम्बे में एडमिशन लिया।

एक्टिंग के लिए छोड़ा आईआईटी बॉम्बे

हालांकि, रंजन राज की किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। अपने कॉलेज के दौरान, को- करिकुलर काम करते वक्त उन्होंने पाया कि शोबिज में काम करना उनका असली पैशन है। बस फिर क्या था कोटा फैक्ट्री के रंजन राज ने आईआईटी बॉम्बे छोड़ दिया और एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा।

कोटा फैक्ट्री के किरदार बालमुकुंद मीना से रंजन राज ने अपनी पहचान बनाई। बता दें, कोटा फैक्ट्री के अलावा, रंजन राज सुशांत सिंह राजपूत की छिछोरे, आयुष्मान खुराना की ड्रीम गर्ल 2 और रुस्तम में नजर आ चुके हैं।

Source : www.livehindustan.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.