Mirzapur 3 Twitter Review: भौकाल या बेकार कैसी लगी लोगों ‘मिर्जापुर 3’, कालीन भैया नहीं इसकी एक्टिंग ने किया इंप्रेस

0
Mirzapur 3 Twitter Review: भौकाल या बेकार कैसी लगी लोगों ‘मिर्जापुर 3’, कालीन भैया नहीं इसकी एक्टिंग ने किया इंप्रेस

Mirzapur 3 Twitter Review: मिर्जापुर एक बार फिर से ओटीटी की दुनिया में धमाल मचाने लौट आया है। पंकज त्रिपाठी और अली फजल स्टारर मिर्जापुर इस बार फिर से एक नई कहानी के साथ लोटा है। कालीन भैया और गुड्डू भैया के बीच मिर्जापुर की गद्दी हथियाने को लेकर फिर से घमासान होता नजर आया। मिर्जापुर के तीसरे सीजन का दर्शकों को बेसब्री से इंतजार था। ऐसे में अब फाइनली ‘मिर्जापुर 3’ ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हो चुकी है, जिसे दर्शकों के बेहतरीन रिव्यू मिल रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी इसे लेकर काफी बज बना हुआ है। हर कोई ट्विटर पर ‘मिर्जापुर 3’ को लेकर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करता नजर आ रहा है। आइए देखते हैं ट्विटर पर ‘मिर्जापुर 3’ को लेकर लोगों के रिएक्शन…

ब्रांड न्यू कहानी के साथ लोटी ‘मिर्जापुर 3’

मिर्जापुर के पहले और दूसरे पार्ट ने दर्शकों को खूब इंप्रेस किया। दोनों ही सीजन में कालीन भैया और गुड्डू भैया के बीच पूर्वांचल की गद्दी हथियाने को लेकर जमकर लड़ाई झगड़ा देखने को मिला। ऐसे में आज ‘मिर्जापुर 3’ का तीसरा पार्ट भी रिलीज हो गया है। मेकर्स बिल्कुल ब्रांड न्यू कहानी के साथ मिर्जापुर का तीसरा पार्ट लेकर आए हैं। कई यूजर्स को तीसरे सीजन की कहानी काफी दमदार लगी तो कई को फीकी लग रही है।

गुड्डू या कालीन भैया किसकी एक्टिंग ने किया लोगों को खुश

‘मिर्जापुर 3’ को लेकर एक यूजर ने लिखा, ‘मिर्जापुर सीजन 3 गजब भौकाल, बवाल हैं कंट्रोल, पॉवर, इज्जत।’ एक दूसरा लिखता है, ‘तीसरे सीजन में बहुत कुछ रह गया है। वो मजा नहीं आया जो पहले और दूसरे पार्ट में था।’ एक ने लिखा, ‘मुन्ना को हमने बहुत मिस किया, कोई दमदार डायलॉग्स भी नहीं है।’ एक लिखता है, ‘मिर्जापुर का पहला और दूसरा सीजन काफी अच्छा था, लेकिन थर्ड सीजन बहुत ही बेकार है। ना कंटेंट है और ना कोई कहानी है, ये बहुत ही बोरिंग सीजन है।’ एक यूजर ने लिखा, ‘इस बार कालीन भैया फीके लगे लेकिन गुड्डू भैया का भौकाल कायम रहा।’ कई यूजर्स ने गुड्डू भैया की तारीफ की है।

Mirzapur

Source : www.livehindustan.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.